बेस्ट स्कूल प्रार्थना इन हिंदी पीडीऍफ़

अगर आप अपने स्कूल के लिए सुबह की प्रेयर में भगवान के लिए स्कूल प्रार्थना इन हिंदी की ख़ोज कर रहे है तो आज हम आपके लिए school prathna in hindi निचे दे रहे है आप उन्हें आराम से याद करें|

नॉट – अगर आप स्कूल प्रार्थना इन हिंदी की पीडीऍफ़ भी लेना चाहते है तो हमे कमेंट करें| हम आपके लिए पीडीऍफ़ भी बनाएगे स्कूल की प्रार्थना इन हिंदी में| Best Online Paise Kamane ke App 2021

Advertisements

लिस्ट स्कूल प्रार्थना इन हिंदी में

  1. तुम्ही हो माता पिता
  2. हम होगें कामयाब
  3. हमको मन की.शक्ति देना मन विजय करें
  4. हे शारदे मां, हे शारदे माँ,
  5. हे हंस वाहिनी ज्ञान दायिनी

तुम्ही हो माता पिता – स्कूल प्रार्थना इन हिंदी

तुम्ही हो माता पिता तुम्ही हो ।

तुम्ही हो बंधु सखा तुम्ही हो ।

तुम्ही हो साथी तुम्ही सहारे

कोई ना अपना सिवा तुम्हारे । ।

तुम्ही हो नैय्या तुम्ही खेवैय्या

तुम्ही हो बंधु सखा तुम्ही हो

जो खिल सके ना वो फूल हम हैं

तुम्हारे चरणों की धूल हम हैं ।

दया की दृष्टि सदा रखना 

तुम्ही हो बंधु सखा तुम्ही हो ..

हम होगें कामयाब – स्कूल प्रार्थना इन हिंदी

हम होगें कामयाब

होगें कामयाब,

होगें कामयाब

हम होगें कामयाब एक दिन

मन में है विश्वास, पूरा है विश्वास

हम होगें कामयाब एक दिन In

हम चलेंगे साथ-साथ

डाल हाथों में हाथ

हम चलेंगे साथ-साथ, एक दिन

मन में है विश्वास, पूरा है विश्वास

हम चलेंगे साथ-साथ एक दिन ।

होगी शान्ति चारों ओर, एक दिन

मन में है विश्वास, पूरा है विश्वास

होगी शान्ति चारो ओर एक दिन ।

नहीं डर किसी का आज एक दिन

मन में है विश्वास, पूरा है विश्वास

नहीं डर किसी का आज एक दिन ।

इतनी शक्ति हमें देना दाता – स्कूल प्रार्थना इन हिंदी

इतनी शक्ति हमें देना दाता

इतनी शक्ति हमें देना दाता, मनका विश्वास कमजोर हो ना

हम चलें नेक रस्ते पे हमसे भूलकर भी कोई भूल हो ना…

दूर अज्ञान के हो अन्धेरे, तू हमें ज्ञान की रौशनी दे

हर बुराई से बचके रहें हम जितनी भी दे, भली जिन्दगी दे

बैर हो ना किसी का किसी से, भावना मन मे बदले की हो ना..

हम चले नेक रस्ते पे हमसे भूलकर भी कोई भूल हो ना…

हम न सोचें हमें क्या मिला है, हम ये सोचें किया क्या है अर्पण

फूल खुशियों के बाटें सभी को सबका जीवन ही बन जाए मधुबन

अपनी करूणा को जब तू बहा दे करदे पावन हर इक मन का कोना…

इतनी शक्ति हमें देना दाता, मनका विश्वास कमजोर हो ना

हम चलें नेक रस्ते पे हमसे भूलकर भी कोई भूल हो ना…

हमको मन की.शक्ति देना मन विजय करें, – स्कूल प्रार्थना इन हिंदी

प्रार्थना

हमको मन की.शक्ति देना मन विजय करें,

दूसरों की जय से पहले खुद की जय करें।

भेद-भाव अपने दिल से साफ कर सकें,

दोस्तों से भूल हो तो माफ कर सकें,

झूठ से बचे रहें सच कदम बढ़े।

दूसरों की जय से पहले खुद की जय करें।

हमको मन की.शक्ति देना मन विजय करें,

दूसरों की जय से पहले खुद की जय करें।

मुश्किलें पड़े तो हम पर इतना करम कर,

साथ दें तो धर्म का चलें तो धर्म पर,

खुद पे हौसला रहें बदी से न डरें।

दूसरों की जय से पहले खुद की जय करें।

हमको मन की.शक्ति देना मन विजय करें,

दूसरों की जय से पहले खुद की जय करें।

हे शारदे मां, हे शारदे माँ, – स्कूल प्रार्थना इन हिंदी

हे शारदे मां, हे शारदे माँ,

अज्ञानता से हमें तार दे माँ

तू स्वर की देवी है संगीत तुझसे.

हर शब्द तेरा है हर गीत तुझसे ।

हम हैं अकेले हम हैं अधूरे,

तेरी शरण में हमें प्यार दे मां ।।

हे शारदे मां हे शारदे मां

मुनियों ने समझी गुनियों ने जानी,

बेदों की भाषा पुराणों की बानी।

हम भी तो समझें हम भी तो जाने,

विद्या का हमको अधिकार दे मां।।

हे शारदे मां, हे शारदे मां

तू. श्वेतवर्णी कमल पे विराजे,

हाथों में बीणा मुकुट सर पे साजे ।

अज्ञानता के मिटा दे अंधेरे,

उजालों का हमको संसार दे मां।।

हे शारदे मां, हे शारदे मां

हे हंस वाहिनी ज्ञान दायिनी – स्कूल प्रार्थना इन हिंदी

हे हंस वाहिनी ज्ञान दायिनी

अम्ब विमल मति दे, अम्ब विमल मति दे…

जग सिर मौर बनाएँ भारत

वह बल विक्रम दे, अम्ब विमल मति दे…

साहस शील ह्रदय में भर दे,

जीवन त्याग तपोमय कर दे

संयम सत्य स्नेह का वर दे, स्वाभिमान भर दे

हे हंस वाहिनी ज्ञान दायिनी,

अम्ब विमल मति दे, अम्ब विमल मति दे…

लव-कुश , ध्रुव प्रहलाद बने ,

हम मानवता का नाश हरे हम ,

सीता सावित्री दुर्गा माँ फिर घर-घर भर दे

हे हंस वाहिनी ज्ञान दायिनी,

अम्ब विमल मति दे, अम्ब विमल मति दे…

हम को मन की शक्ति देना – स्कूल प्रार्थना इन हिंदी

हम को मन की शक्ति देना

मन विजय करें,

दूसरों की जय से पहले

खुद की जय करें।

भेदभाव अपने दिल से

साफ कर सकें,

दोस्तों से भूल हो तो

माफ कर सकें,

झूठ से बचे रहें

सच का दम भरें,

दूसरों की जय से पहले

खुद की जय करें।

मुश्किलें पड़ें तो हम पे

इतना कर्म कर,

साथ दें तो धर्म का

खुद पे हौसला रहे

बदी से ना डरें,

दूसरों की जय से पहले

खुद की जय करें।

चलें तो धर्म पर,

Leave a Reply

%d bloggers like this: