मल्टीमीडिया क्या है

33
5/5 - (6 votes)

अगर आप मल्टीमीडिया (Multimedia) के बारे में जानकारी खोज रहे हो तो आज हम आपको मल्टीमीडिया क्या है, मल्टीमीडिया का उपयोग, और इसके तत्व के बारे में जानकारी आपको दे रहे है।

मल्टीमीडिया (Multimedia) क्या है

लोग आपस में अपनी बात कहने या एक दूसरे तक कोई सूचना पहुँचाने के लिए भिन्नभिन्न माध्यम की सहायता लेते हैं। ये माध्यम निम्नलिखित हो सकते हैं- ध्वनि (Audio), दृश्य (Video), प्रतीक (Symbol ), शब्द (Text), एनिमेशन (Animation) इत्यादि ।

मल्टीमीडिया अपनी बात या सूचना को एक से अधिक माध्यम का उपयोग कर दूसरे तक पहुँचाना है। दूसरे शब्दों में शब्द, ध्वनि, ग्राफिक्स तथा एनिमेशन का एक साथ संपादित होना मल्टीमीडिया है। एक मल्टीमीडिया आधारित कम्प्यूटर में सारे आवश्यक हार्डवेयर तथा सॉफ्टवेयर होने चाहिए जो इन सारे कार्यों को एक साथ करने में सक्षम हो सके।

मल्टीमीडिया सिस्टम के लिए आवश्यक हार्डवेयर एवं सॉफ्टवेयर क्या है

All Hardware and Software requirements for Multimedia System:

  1. ग्राफिक्स एक्सलरेटर कार्ड (Graphics Accelerator Card)
  2. सीडी रॉम ड्राइव
  3. साउन्ड कार्ड
  4. माइक्रोफोन तथा कैमरा
  5. मल्टीमीडिया सॉफ्टवेयर

मल्टीमीडिया का उपयोग (Uses of Multimedia)

मल्टीमीडिया का उपयोग निम्नलिखित क्षेत्रों में होता हैं:

  1. शिक्षा एवं प्रशिक्षण देने (Education and Training) में
  2. व्यापार ( Business ) में
  3. मनोरंजन ( Entertainment) में
  4. विज्ञान ( Science) में इत्यादि।

मल्टीमीडिया के तत्त्व (Elements of Multimedia)

मल्टीमीडिया के 5 निम्नलिखित तत्त्व हैं—

  1. शब्द (Text): इसके अन्तर्गत स्क्रीन पर शब्दों को दिखाया जाता है। इसका उपयोग सूचनाओं को प्रदान करने के लिए किया जाता है। शब्दों को विशेष टूल्स ( Special Tools ) जैसे- बोल्ड, ब्लिंक (Blink) तथा अन्डरलाइन (Underline) का उपयोग कर आकर्षक तथा रोचक बनाया जाता है।
  2. चित्र (Picture): कम्प्यूटर के द्वारा अच्छी गुणवत्ता के चित्र स्क्रीन पर तैयार किये जाते हैं। किसी सूचना को लोगों को सरलता से समझाने के लिए शब्दों के साथ चित्र का उपयोग किया जाता है।
  3. चलचित्र (Movies): मल्टीमीडिया प्रोग्राम का उपयोग कर कम्प्यूटर को टेलीविजन के रूप में भी उपयोग किया जा सकता है। पारिवारिक उत्सवों, फिल्मों तथा शिक्षाप्रद फिल्मों आदि को सीडी (Compact Disc) में संग्रहित कर कम्प्यूटर पर देखा जा सकता है।
  4. एनिमेशन ( Animation): यह ग्राफिक्स चित्रों का समूह है जिसे तीव्रता से एक के बाद एक दिखाया जाता है ताकि वो सिनेमा की तरह गतिशील दिखाई दे सके। इसका उपयोग बच्चों के कार्टून फिल्म, विडियो गेम, ऑटोमोबाइल उद्योग द्वारा सुरक्षित ड्राइविंग के लिए फिल्म आदि बनाने के लिए होता है।
  5. औडियो (Audio): इसके अंतर्गत हमे कुछ wave सुनने को मिलती हैं। इन वेव को सुनने के लिए हमे स्पीकर की जरूरत होती है। audio file को। हम .mp3 .wav .mp4a आधी एक्सटेशन में सेव करके रख सकते हैं।

मल्टीमीडिया कितने प्रकार के होते हैं?

मल्टीमीडिया फ़ाइल कई तरह की होती है जैसे ध्वनि (Audio), दृश्य (Video), प्रतीक (Symbol ), शब्द (Text), एनिमेशन (Animation), वीडियो (video), 3D इत्यादि मल्टीमीडिया के प्रकार होते है।

मल्टीमीडिया में ध्वनि क्या है

ध्वनि जिनसे हम स्पीकर की मदद से सुन सकते है। यह एक वेव होती है, और एक ऑडियो फ़ाइल या वीडियो फ़ाइल में एम्बेड हो सकती है। इसकी मदद से हमे मसेज मिलता है कोई कोई व्यक्ति अपनी बात क्या बोल रहा है।

मल्टीमीडिया का शिक्षा में उपयोग कैसे हो रहा है

आधुनिक शिक्षा में मल्टीमीडिया का उपयोग हो रहा है। एक प्रोजेक्टर में या किसी स्क्रीन पर सभी तरह के मल्टीमीडिया तत्व का यूज करके हम ऑनलाइन या ऑफलाइन इनका उपयोग कर रहे है। इनके उपयोग से चीजों को समझना आसान हो गया है।

मल्टीमीडिया की विशेषताएं क्या है

अगर इसकी विशेषताए हम समझे तो शिक्षा एवं प्रशिक्षण देने में हमे काफ़ी अधिक मदद मिली है। व्यापार में इसका यपयोग तेज़ी से बढ़ा है। आज के समु में मनोरंजन (Entertainment) की कल्पना इसके बिना नहीं की जा सकती है।

निष्कर्ष

इन्हें भी पढ़े

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here