Pudina ke Fayde in Hindi 2021 | Pudina Benefits in Hindi 2021 | पुदीने के फायदे

आज का हमारा टॉपिक – Pudina ke Fayde in Hindi 2021 | Pudina Benefits in Hindi 2021 | पुदीने के फायदे।

हम पुदीने का उपयोग सुगंधित भोजन बनाने के रूप में करते हैं। लेकिन इस से इलाज भी किया जा सकता है। आइए इसे एक औषधी के रूप में इसका उपयोग करना सीखें।

Pudina को मिंट पेपर लेट्यूस के नाम से भी जाना जाता है। पुदीने के पत्तों से बना पुदीना स्नान निश्चित रूप से एक मजबूत इलाज करने वाली औषधि है, यह पाचन शक्ति को उत्तेजित करता है। सुगंधित उत्पादों में पुदीना मिलाया जाता है। पुदीने से निकाले गए पुदीने के तेल का उपयोग प्राकृतिक उपचार में किया जाता है।

इसे भी पढ़े – Chehre se Pimple Kaise Hataye 2021 | अपने पूरे चेहरे पर पिंपल्स से छुटकारा पाने के लिए इसे अपनाएं

Pudina ke Fayde in Hindi 2021 पूरी जानकारी

Pudina ke Fayde in Hindi

पुदीने में प्रोटीन, वसा, कार्बोहाइड्रेट, फाइबर और धातुएं होती हैं। इसमें कैल्शियम, आयरन, फास्फोरस, विटामिन ए, निकोटिनिक एसिड, राइबोफ्लेविन और थायमिन जैसे पोषक तत्व होते हैं। कोई फर्क नहीं पड़ता कि आप इसे कैसे लेते हैं, इसके गुण नहीं बदलते हैं और इसे अपने आहार में शामिल करने से आप अपने भोजन का स्वाद बढ़ा सकते है। अब हम यह देखने जा रहे हैं कि हस्तशिल्प के लिए इस टकसाल का उपयोग कैसे किया जाता है।

All Pudina ke Fayde (Benefits) in Hindi 2021

  • गर्भावस्था के दौरान उल्टी के लिए पुदीना का इस्तेमाल
  • दस्त को रोकरने के लिए पुदीना बहुत ही उत्तम है
  • मतली में Pudina ke Fayde in Hindi 2021
  • आपको दंत रोग में पुदीना के फ़ायदे
  • मासिक धर्म की समस्या में पुदीना के फायदे

इसे भी पढ़े – Breast Growth Tips at Home in Hindi 2021 | ये 8 आदतें खराब कर सकती हैं आपके ब्रेस्ट की सेहत…

गर्भावस्था के दौरान उल्टी के लिए पुदीना का इस्तेमाल

गर्भवती महिलाओं को उल्टी याद आने की संभावना अधिक होती है। गर्भावस्था की उल्टी को टाला या रोका नहीं जा सकता है। लेकिन इस पर काबू पाया जा सकता है। ऐसा इसलिए है क्योंकि कुछ गर्भवती महिलाएं गर्भावस्था के दौरान उल्टी करती हैं। इसे नियंत्रित करने के लिए पुदीने के उपाय पुदीने के उपाय सबसे अच्छे हैं।

Pudina ke Fayde in Hindi

कैसे लेना है पोदीना गर्भावस्था के दौरान उल्टी होने पर

पोदीने की एक जुटी का रस निकाल लें। इसे छान लें, इसे एक बड़े गिलास में निकाल लें और तीन चौथाई या एक गिलास पानी डालें, इस तरल में तीन गुना चीनी डालकर मध्यम आँच पर ओवन में रख दें।

गर्भावस्था के दौरान उल्टी होने पर एक चम्मच मुंह में डालें और उसमें थोड़ी सी लार मिलाकर निगल लें। ऐसा करने से उल्टी नहीं होगी। इसे सिर्फ गर्भवती महिलाएं ही नहीं बल्कि उल्टी करने वाले सभी लोग खा सकते हैं।

इसे भी पढ़े – Best Diet for Weight Loss in Hindi 2021 | Vajan Kam Karne Ke Liye Diet Plan

दस्त में Pudina ke Fayde in Hindi 2021

Pudina ke Fayde in Hindi

दस्त होने पर पुदीने का इस्तेमाल हाथ से किया जा सकता है। यह मधुमेह का थोड़ा सा विकल्प हो सकता है। शरीर खोई हुई थकान की भरपाई करेगा। इसे आप खासतौर पर बच्चों को दे सकते हैं। इस पुदीने को दस्त की दवा के साथ देने से दस्त की समस्या कम हो जाएगी। पुदीना अच्छे से दिया जा सकता है क्योंकि इसका कोई साइड इफेक्ट नहीं है।

दस्त लगने पर पुदीना कैसे लें

पोदीने की पतियों का रस निचोड़ें। फिर एक गिलास पानी में उबाल लें। आधा गिलास होने तक उबालें, फिर छान कर ठंडा कर लें यह पानी बच्चों को सुबह-शाम 5 चम्मच देने के लिए काफी है। दस्त धीरे-धीरे कम हो जाएगा।

आपको दंत रोग में Pudina ke Fayde in Hindi 2021

Pudina ke Fayde in Hindi

अगर आप चाहते हैं कि आपके दांत हमेशा चमकदार रहें, तो इस बात का ध्यान रखना चाहिए। आमतौर पर मिंट को सांसों की दुर्गंध के लिए डाला जाता है। पुदीने के पानी से माउथवॉश और पुदीने से माउथवॉश। लेकिन आप पुदीने के पाउडर का इस्तेमाल दांतों की सड़न को रोकने के लिए बिना पुदीना लिए ही कर सकते हैं क्योंकि यह दांतों को ताजगी देता है।

इसे भी पढ़े – अपने चेहरे को बूढ़ा दिखने से बचाने के लिए अपनाएं ये नेचुरल टिप्स!

दातो के रोग से बचने के लिए पोदीना का इस्तेमाल कैसे करें

पुदीने की पत्तियों को धोकर सुखा लेना चाहिए। एक बार जब वे कुचलने के लिए पर्याप्त सूख जाएं, तो इसे बाहर निकालें और इसे पीसकर पेस्ट बना लें या मिला लें। पिसी हुई पुदीने के पाउडर में एक चौथाई नमक एक-एक करके डालें और फिर से गूंद लें और छलनी से छान लें। इस पाउडर से रोजाना अपने दांतों को ब्रश करने से न केवल सांसों की दुर्गंध बल्कि दांतों की किसी भी समस्या से बचा जा सकता है।

मतली में Pudina ke Fayde in Hindi 2021

Pudina ke Fayde in Hindi

मतली का मतलब है कलेजे में बेचैनी होना उलटी लगने को होना|

मतली की भावना उल्टी की भावना से अलग है। कुछ लोगों को मतली होती है चाहे वे कुछ भी खाएं। उल्टी नहीं होगी। चक्कर आएंगे। मिंट मतली को ठीक कर सकता है। मतली को रोक सकता है।

कैसे करे पोदीना का इस्तेमॉल

एक मुट्ठी पुदीना लें, उसमें छोटी नेल्ली आकार की इमली डालें, 10 काली मिर्च डालें और एक सॉस पैन में कोर पीस लें। इसे कड़ाही में डालें और पानी का एक गिलास आसुत या छान कर छोड़ दें और इसका थोड़ा सा रस पीने से जी मिचलाना बंद हो जाता है।

इसे भी पढ़े – Immunity Power Kaise Badhaye in Hindi gharelu upay

मासिक धर्म की समस्या में Pudina ke Fayde in Hindi 2021

Pudina ke Fayde in Hindi

पुदीना इस बात का उदाहरण है कि कैसे भोजन से मासिक धर्म की अनियमितता को ठीक किया जा सकता है। इसे कैसे इस्तेमाल करें पुदीने के पत्तों का 1 किलो बड़ा बंडल खरीदें, इसे साफ करें और धूप में सुखाएं।

इन्हें अच्छी तरह से सुखाकर छाया में सुखाना चाहिए। मुलायम होने तक उबलने दें और फिर मिक्सर में पीसकर छलनी से छान लें। फिर पाउडर को कांच की बोतल में बंद कर लें।

रोजाना सुबह और रात में तीन चौथाई चम्मच चूर्ण को शहद के साथ मिलाकर मासिक धर्म में रुकावट को दूर किया जा सकता है। मासिक धर्म की ऐंठन भी कम होगी।

इसे भी पढ़े – अपने मोबाइल से 20 हजार कमाने का मौका बिना एक पैसा लगाए आज अभी अप्लाई करे और घर बैठे पैसे कमाए ऑनलाइन सिर्फ अपने मोबाइल से|

close

Ad Blocker Detected!

How to disable? Refresh

error: Content is protected !!